देखें, नगालैंड की 'निर्वासित सरकार'

नगालैंड में एक अलग दुनिया है। दुनिया है नगालैंड की कथित 'निर्वासित सरकार' की। इस सरकार को नाम दिया गया है- गवर्नमेंट ऑफ द पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ नगालिम (जीपीआरएन)। इसका नेतृत्व एनएससीएन (आईएम) ग्रुप करता है। पिछले दिनों अभिषेक श्रीवास्तव वहां गये थे। उन्होंने जो देखा सो लिखा ही। चंद तस्वीरें भी खींच कर लाये। आप भी देखें तस्वीरें। तीर के सहारे आगे बढ़ते जायें।

इसके बारे में विस्तार से पढ़ें-
हेब्रॉन, सिंघाड़ा और नगा चटनी...

Comments

अच्छा डड्डु बना रहे हो मिंया? दो-चार पप्पु टाइप छोरे एक जिप्सी में डालकर, गलियारे में झंडा गाड़्कर और गांव के किनारे दो बंबु तानकर साला में भी 'government in exile' बना लूं?

भाई ये अखंड भारत है. यहां एकाध ऐसे गधे रह भी लें तो देश की सेहत को कोई फर्क नहीं पड़ता, इन बेवकूफों को अपना शौक पूरा करने दो, बिल्लियों के हवन कराने से शेर बीमार नहीं पड़ते.

नगालैंड भारत में है
सभी नगा अखंड रूप से भारतीय है

जय भारत!
Nasiruddin said…
रमेज जी, आप स्वतंत्र हैं सरकार बनाने को। जब बनायेंगे तो बतायेंगे। आपने शीर्षक में लगे '' और इंट्रो में लगे शब्द कथित को देखा होगा और नीचे दिये गये लिंक के जरिये एक पोस्ट भी पढ़ा होगा...यह सब कुछ कहते हैं... फिर भी आपका आवेश बचा है।
एनएससीएन-आईएम भारत से अलग होने की बात नहीं कहता। गुजारिश है कि ज़रा पोस्ट पढ़ लें। वैसे जैसे आप अखंड भारत के हिमायती हैं, वैसे हम भी है। तो सुदूर पूर्वोत्तर के लोगों के दर्द को भी आप समझते ही होंगे। जय भारत यानी भारत के लोगों की जय। नक्शे की रेखाओं की जय तो होगी नहीं। आप तो इरोम शर्मिला के संघर्ष को जानते ही होंगे। आप उनके साथ है या नहीं।