देखें/ सुनें और महसूस करें इस मौसिकी का जादू (Khuda ke liye)

सरहद पार की फिल्म 'खुदा के लिए' {Khuda Ke liye : In the name of god} संगीत के इर्द गिर्द घूमती फिल्म है। इसके कई मायने निकाले जा सकते हैं। एक मायने तो यही हो सकता है कि संगीत लोगों को/ दुनिया को जोड़ने का काम करता है। दूसरा मायने यह भी है कि संगीत आदम जात को नरमदिल इंसान बनाता है। उसमें भावनाओं के कोंपल जगाता है।
आइये देखें/सुनें और तय करें कि क्या वाकई में इस फिल्म की मौसिकी ऐसी ही है।





Comments

अच्छा लगा इन गानों को सुनकर।
इस खूबसूरत गीत को सुनवाने के लिए शुक्रिया।
indscribe said…
Aadab
Do mahine se khamoshi!
kyaa baat hai!!!